World Cerebral Palsy Day: बड़ी दर्दनाक होती है सत्या नडेला के बेटे वाली बीमारी, प्रेग्नेंसी से ही शुरू हो सकती है कहानी

Gypsy News

Gypsy News

हाइलाइट्स

सेरेब्रल पाल्सी के कई कारण है जो प्रेग्नेंसी के दौरान भी हो सकता है और प्रेग्नेंसी के बाद भी.
आमतौर पर 1 सी 2 साल के बीच इसके लक्षण दिखाई देने शुरू होते हैं.

World Cerebral Palsy Day 2023: माइक्रसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला के बेट जेन का 26 वर्ष की उम्र में पिछले साल निधन हो गया. वे हमेशा व्हील चेयर पर रहते थे. कई बार आपने उसके व्हील चेयर को पिता सत्या नडेला द्वारा खींचते हुए देखा होगा. दरअसल, जेन सेरेब्रल पाल्सी की बीमारी से जूझ रहा था. यह तंत्रिका तंत्र संबंधी एक दर्दनाक बीमारी है जिसमें दिमाग से ही सेंट्रल नर्वस सिस्टम कमजोर हो जाता है.यानी एक तरह से शरीर की कई नसें काम करना बंद कर देती है जिससे मरीज का हिलना-डुलना भी मुश्किल हो जाता है. अधिकतर मरजों को पूरा जीवन व्हील चेयर पर ही बिताना पड़ता है. सेरेब्रल पाल्सी विकसित हो रहे दिमाग के डैमेज होने से हो सकता है. यह प्रेग्नेंसी के दौरान भी हो सकता है और शिशु के जन्म लेने के बाद भी. आमतौर पर 1 सी 2 साल के बीच इसके लक्षण दिखाई देने शुरू होते हैं इसलिए अधिकांश बच्चों को बाद में अपंगता की स्थिति में जीना होता है. यही कारण है सेरेब्रल पाल्सी को लेकर जागरूकता की बेहत जरूरत है.

सेरेब्रल पाल्सी के लक्षण

मायो क्लिनिक के मुताबिक अलग-अलग बच्चों में सेरेब्रल पाल्सी के अलग-अग लक्षण दिखाई देते हैं. कुछ मरीज सेरेब्रल पाल्सी के बावजूद चल-फिर सकते हैं जबकि कुछ को सहारा लेना पड़ता है जबकि कुछ बिल्कुल भी नहीं चल सकता. कुछ लोगों में बौद्धिक अक्षमता होती है लेकिन कुछ लोगों के पास बुद्धि होती है. कुछ लोगों में मिर्गी, अंधता और बहरापन की भी समस्या हो सकती है. यह इस बात पर निर्भर करता है कि सेरेब्रल पाल्सी का अटैक किस समय हुआ है और कब से इलाज चल रहा है. इसका शत प्रतिशत इलाज नहीं है लेकिन कुछ हद तक मूवमेंट को सही किया जा सकता है.

सेरेब्रल पाल्सी के लक्षण

इसमें सबसे पहले मसल्स में स्टिफनेस आ जाती है जिसके कारण मसल्स रिफलेक्स में दिक्कत होती है. इसे स्पास्टिसिटी कहते हैं. मसल्स जब बहुत कमजोर होने लगते हैं तो हाथ या शरीर के कई अंगों पर बैलेंस नहीं हो पाता है. अगर हाथ या पैर इधर-उधर हो जाए तो उसे खुद से सही करना मुश्किल हो जाता है. अगर कुछ बच्चे थोड़ा मूवमेंट में सही भी होता है तो इसे लिखने, बोलने, चलने में परेशानी होती है. शरीर के एक तरफ का हिस्सा काम करता है. बच्चों को बोलने में दिक्कत होती है. शरीर का विकास सही से नहीं हो पाता है. कुछ चबाने या निगलने में भी दिक्कत होती है. कुछ बच्चों को सुनने में भी दिक्कत हो सकती है.

डॉक्टर के पास कब जाना है जरूरी

अगर उपर के लक्षण शुरुआत से ही बच्चे में दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए. जितनी देर करेंगे बीमारी को संभालने में उतनी मुश्किल होगी. अगर साल भर की उम्र से ही बच्चे के विकास या मूवमेंट में किसी तरह की दिक्कत हो तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं. कुछ टेस्ट के माध्यम से डॉक्टर सेरेब्रल पाल्सी का पता लगाएंगे. अगर इस समय से इलाज शुरू हो गया तो इसे कंट्रोल करने में आसानी होगी.

सेरेब्रल पाल्सी के कारण

सेरेब्रल पाल्सी के कई कारण है जो प्रेग्नेंसी के दौरान भी हो सकता है और प्रेग्नेंसी के बाद भी. यह प्रेग्नेंसी के दौरान बच्चे के ब्रेन डेवलपमेंट के समय जेनेटिक परिवर्तन के कारण भी हो सकता है और प्रेग्नेंसी के दौरान मां को हुए गंभीर संक्रमण से भी हो सकता है. अगर बच्चे के दिमाग में गर्भ के दौरान ब्रेन में खून की सप्लाई बंद होती है तो भी यह बीमारी हो सकती है. गर्भ में ब्रेन से खून निकलने के कारण भी यह हो सकता है. नवजात बच्चों में घातक संक्रमण के कारण भी यह बीमारी हो सकती है. अगर गर्भ में बच्चे के दिमाग में चोट लग जाए तो भी सेरेब्रल पाल्सी हो सकती है. इसलिए इस बीमारी के कई कारण है. ऐसे में समय पर अपने बच्चों के प्रति सतर्कता ही इससे बचाव है.

इसे भी पढ़ें-क्या विटामिन डी की कमी से होता है कैंसर? वैज्ञानिक सुलझा रहे हैं गुत्थी, पर इस घातक बीमारी से है खास रिश्ता

इसे भी पढ़ें-बेकार हो रहे हैं परेशान, किचन में ही मौजूद है फैट बर्नर चीज, मजे-मेज में इस तरह कीजिए तूफानी, झटपट गायब होगी पेट की चर्बी

Tags: Health, Lifestyle, Trending news

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स