Mahadev Betting App: महादेव बेटिंग ऐप जांच में अब कपिल शर्मा और हुमा कुरैशी से होगी पूछताछ, ED ने भेजा समन

Gypsy News

Gypsy News

नई दिल्‍ली.  महादेव बेटिंग ऐप केस (Mahadev Betting App Case) में बॉलीवुड अभिनेता रणबीर कपूर के बाद अब तीन और नाम ईडी के रडार में आ गए हैं. प्रवर्तन निदेशालय ने मशहूर कॉमेडियन कपिल शर्मा, अभिनेत्री हुमा कुरैशी और हीना खान को समन जारी किया है. सभी को पेश होकर अपना बयान दर्ज कराने के लिए कहा गया है. यह पूरा मामला छत्तीसगढ़ के ‘महादेव’ सट्टेबाजी ऐप से जुड़ा है. इसे लेकर मनी लॉन्ड्रिंग के मामले की जांच ईडी के पास है. पेश मामले में ईडी ने अभिनेता रणबीर कपूर को समन जारी कर शुक्रवार को पूछताछ के लिए उपस्थित होने के लिए कहा है.

जांच के दौरान अब इस केस में कॉमेडियन कपिल शर्मा, अभिनेत्री हुमा कुरैशी और हीना खान की कथित संलिप्‍तता सामने आई है. यही वजह है कि तीनों को प्रवर्तन निदेशालय ने पेश होकर अपना पक्ष रखने के लिए कहा है. अभी यह स्‍पष्‍ट नहीं हो पाया है कि तीनों को किस तारीख को पेश होने के लिए कहा गया है.

वहीं, रणबीर कपूर की लीगल टीम ने प्रवर्तन निदेशालय से संपर्क साधा है और अपने खिलाफ जारी समन पर जवाब दिया है. न्यूज18 को यह जानकारी मिली है कि अभिनेता रणबीर कपूर ने ईडी से संपर्क किया है और जांच एजेंसी के समक्ष पेश होने के लिए दो सप्ताह का समय मांगा है. महादेव मनी-लॉन्ड्रिंग मामले में रणबीर कपूर को समन नोटिस जारी किया गया था और शुक्रवार को पेश होने के लिए कहा गया है.

यह भी पढ़ें:- शराब घोटाले में संजय सिंह की गिरफ्तारी पर कांग्रेस चुप क्‍यों? जानें कौन सी सियासी मजबूरी आ रही आड़े?

क्‍यों बॉलीवुड तक पहुंच ED की जांच?
जांच के दौरान सामने आया है कि कंपनी के प्रवर्तक सौरभ चंद्राकर की यूएई में शादी हुई थी, जिसमें सेलिब्रिटीज ने परफॉर्म किया था. परफॉर्म करने के लिए इन सेलिब्रिटी ने अपनी फीस कैश में ली थी. ईडी इसी के कनेक्‍शन की जांच कर रही है. क्या हवाला के जरिए इस पैसे को यूएई से भारत लाया गया था. इस बारे में ईडी की जांच जारी है.

Mahadev Betting App: महादेव बेटिंग ऐप जांच में अब कपिल शर्मा और हुमा कुरैशी से होगी पूछताछ, ED ने भेजा समन

क्‍या है महादेव बेटिंग ऐप केस?
ईडी के मुताबिक., कंपनी के प्रवर्तक सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल दुबई से ऐप संचालित कर रहे थे. उसने आरोप लगाया कि वे नए उपयोगकर्ताओं का पंजीकरण करने के लिए ‘ऑनलाइन सट्टेबाजी ऐप्लीकेशन का इस्तेमाल करते थे, आईडी बनाते थे एवं बहु स्तरीय बेनामी बैंक खातों के नेटवर्क से धनशोधन करते थे. अधिकारियों ने बताया कि ईडी की जांच में खुलासा हुआ कि ‘महादेव ऑनलाइन बुक ऐप’ का संचालन संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) स्थित प्रधान कार्यालय से किया जाता था. उन्होंने बताया कि वे अपने जानकारों को ‘फ्रेंचाइजी’ के जरिये खोली गई शाखाओं को कारोबार का अधिकार 70-30 के लाभ अनुपात पर देते थे.

Tags: Directorate of Enforcement, Hina Khan, Huma Qureshi, Kapil sharma, Ranbir kapoor

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स