2-2 मिनट… रोज करें ये 3 योग आसन, हो जाएंगे स्लिम-ट्रिम, कई बीमारियों से मिलेगी राहत!

Gypsy News

Gypsy News

शिवकुमार जोगी/गुना. सर्दी के मौसम में अलग-अलग तरह की बीमारियों से लोग खासे परेशान रहते हैं. बीमारियों से बचाव के लिए लोग कई प्रकार के नुस्खे अपनाते हैं या फिर फिजिशियन से कंसल्ट करते हैं. लेकिन, क्या आप जानते हैं योग में कुछ ऐसे आसन हैं, जिन्हें अगर आप अपनी रूटीन में शामिल कर लें तो बीमारियों पर काफी हद तक कंट्रोल पाया जा सकता है.

योग ट्रेनर संजय चौरसिया ने बताया कि अगर कोई रोज इन 3 आसन को 30 सेकंड से शुरू कर 1 से 2 मिनिट तक करे तो शरीर से जुड़ी बीमारी में लाभ पहुंचा सकता है. ये आसन आपको फिट रखेगा. प्रतिदिन सुबह योग करने से शरीर की आधी से ज्यादा समस्या वैसे ही खत्म हो जाती है. यदि किसी को गंभीर बीमारी है तो कुछ आसन से बचना भी जरूरी है.

भुजंग आसन के फायदे
इस आसन से व्यक्ति डिप्रेशन जैसी समस्या से आसानी से निजात पा सकता है. कमर, गर्दन, कंधे में होने वाले दर्द में आराम मिलता है. शरीर की हड्डियां मजबूत होती हैं. यह आसान शरीर में बढ़ने वाली चमड़ी को नियंत्रित करता है.
बचाव: इस आसन को करते समय व्यक्ति अपने सामर्थ्य के हिसाब से पीछे की तरफ झुकाव करना चाहिए. अगर पेट और पीठ में दर्द है तो इस आसन को बिल्कुल ना करें. हर्निया से ग्रसित व्यक्ति भी आसन को न करें. गर्भवती महिलाओं को यह आसन नहीं करना चाहिए.

मत्स्य आसान के लाभ
इस योग आसन से शरीर को काफी मजबूती प्रदान होती है. इससे व्यक्ति के चेस्ट और फेफड़ों का विकास होता है. महिलाओं में गर्भाशय, मासिक धर्म से जुड़ी समस्या ठीक होती है. पेट की चर्बी कम होती है. जिद्दी खांसी भी समाप्त हो जाती है.
बचाव: बीपी के पेशेंट को इस प्रकार के आसान नहीं करना चाहिए. गर्दन या पीठ के निचले हिस्से में पेन हो तो ऐसे समय व्यक्ति को इन आसान को नहीं करना चाहिए. माइग्रेन, डिप्रेशन जैसी समस्या से ग्रसित व्यक्ति को भी यह आसन नहीं करना चाहिए.

नौका आसन के लाभ
इस आसन से पेट और साइड की चर्बी को कम किया जा सकता है. पेट, कमर और रीड की हड्डियों में लाभ होता है. डायबिटीज जैसे बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को काफी राहत मिलती है.
बचाव: कंधों , घुटने में दर्द होने पर इस प्रकार का आसन नहीं करना चाहिए. जिस व्यक्ति को इस प्रकार के आसन से चक्कर आते हैं उनको भी बचना चाहिए.

Disclaimer: इस खबर में दी गई सलाह हमारे एक्सपर्ट्स से की गई चर्चा के आधार पर है. यह सामान्य जानकारी है, न कि व्यक्तिगत सलाह. हर व्यक्ति की आवश्यकताएं अलग हैं, इसलिए डॉक्टर्स से परामर्श के बाद ही, कोई चीज उपयोग करें. कृपया ध्यान दें, Local-18 की टीम किसी भी उपयोग से होने वाले नुकसान के लिए जिम्मेदार नहीं होगी. 

Tags: Guna News, Health tips, Local18, Yogasan

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स