सेहत का खजाना हैं ये पेड़, शुगर में कारगर, पत्ते से चेहरे पर आता है निखार, खुजली होती है खत्म, कब्ज रहता है दूर

Gypsy News

Gypsy News

लखेश्वर यादव/ जांजगीर चांपा: नीम का पेड़ तो आप सभी जानते होंगे. यह सदाबहार वृक्ष है. इसकी शाखाएं खुरदरी भूरे रंग की होती है. नीम की पत्तियां चमकदार हरे रंग की और प्रत्येक सींक पर नव पर्णक थोड़े मुड़े हुए ऊपर से चमकदार नीचे से खुरदरे होते है. इसकी एक टहनी में करीब 12-15 पत्ते पाए जाते है. इसके फूल सफेद रंग के होते हैं. नीम पेड़ के प्रत्येक भाग में रक्तशोधक गुण भरे पड़े है. आइए जानते है आयुर्वेद चिकित्सक ने नीम के क्या फायदे बताए है.

नीम के संबंध में जांजगीर जिला हॉस्पिटल के आयुर्वेद डॉक्टर फणींद्र भूषण दीवान ने बताया कि नीम का प्रयोग बहुत ही प्राचीन काल से किया जा रहा है. इसकी छाल, पत्ता, टहनी सभी को औषधीय के रूप में उपयोग किया जाता है. खास तौर से त्वचा के रोगों में इसका प्रयोग किया जा रहा है. नीम का तेल को आप त्वचा में खुजली, दाद, या अन्य स्किन संबंधी बीमारियों में लगाने के लिए कर सकते है. नीम का पत्तों का रस निकालकर पीया जा सकता है. इससे कई बीमारियां भी दूर होती है.

यह भी पढ़ें- मात्र ₹300 में गरम लेडीज ब्लेजर, यहां आधे दाम में मिल रहे ऊनी कपड़े, जल्दी नोट कर लें पता

कई बीमारियों में फायदेमंद
उन्होंने बताया कि नीम में एंटीबायोटिक, एंटीसेप्टिक गुण होने के कारण यह मूल रूप से ब्लड साफ में उपयोगी होती है. इससे आपकी त्वचा संबंधी रोग दूर होते हैं और पेट भी साफ होता है जिससे पूरा शरीर स्वस्थ रहता है. इसके अलावा शुगर में भी इसके बहुत फायदेमंद है. नीम का रोजाना प्रयोग करने से शुगर लेवल कम होता है. नीम का दातुन करने से दांत दर्द में राहत मिलती है. मसूड़ों के लिए बहुत ही लाभदायक होता है.और मसूड़ों में होने वाले इन्फेक्शन जिसे पायरिया कहते हैं इसके इलाज में मदद करता है. नीम का पत्ता रोजाना चबाने से भी बहुत फायदा होता है.

यहां जानिए नीम के फायदे

  • नीम के शीतल छाया में विश्राम करने से शरीर स्वस्थ रहता है. संध्याकाल में इसकी सूखी पत्तियों के धुएं से मच्छर भाग जाते हैं, रात में नींद अच्छी आती है और वातावरण भी शुद्ध रहता है.
  • इसकी मुलायम छाल चबाने से हाजमा ठीक रहता है.
  • नीम की पत्तियों को सुखाकर अनाज में रखने से उसमें कीड़े नहीं पड़ते है जिससे अनाज खराब नही होता है.
  • नीम की पत्तियों को पानी में उबालकर स्नान करने से अनेक रोगों से मुक्ति मिल जाती है, सिर स्नान से बालों की जुएं मर जाते हैं.
  • नीम की जड़ को पानी में घिसकर लगाने से कील मुंहासे मिट जाते है. और चेहरा सुंदर हो जाता है
  • नीम के पत्तों का रस खून को साफ करता है, और खून बढ़ाता भी है इसे 5 से 10 मिलीलीटर की मात्रा में रोजाना खाना चाहिए

Tags: Chhattisagrh news, Health, Local18

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स