आंख मूंदकर लगा दें इस फंड में पैसा और चैन से सो जाएं, एक्‍सचेंज खुद करेंगे निगरानी, नहीं होगा चवन्‍नी का नुकसान

Gypsy News

Gypsy News

हाइलाइट्स

इंडेक्‍स फंड किसी एक कंपनी में निवेश नहीं करते हैं.
पूरे एक्‍सचेंज पर मौजूद सभी कंपनियों में पैसे डालता है.
गिरावट हो या उछाल इंडेक्‍स फंड में जोखिम कम रहता है.

नई दिल्‍ली. शेयर बाजार और म्‍यूचुअल फंड में पैसे लगाने वाले निवेशकों को हमेशा ऐसे विकल्‍पों की तलाश रहती है, जहां जोखिम कम हो और रिटर्न जबरदस्‍त मिले. अगर आप भी ऐसे ही किसी विकल्‍प की तलाश में हैं तो इंडेक्‍स फंड (Index Funds) आपकी इस चिंता को खत्‍म कर सकते हैं. यहां पैसे लगाने वाले को न तो इनकी निगरानी करने की चिंता रहती है और न ही बाजार में उतार-चढ़ाव आने की फिक्र.

निवेश मामलों के जानकार बलवंत जैन का कहना है कि इंडेक्‍स फंड किसी एक कंपनी या एक कैटेगरी में निवेश नहीं करते हैं. यह फंड पूरे एक्‍सचेंज पर मौजूद सभी कंपनियों में पैसे डालता है. यही कारण है कि बाजार में गिरावट हो या उछाल इंडेक्‍स फंड में अमूमन जोखिम कम रहता है. ऐसे निवेशक जो कम जोखिम के साथ अच्‍छा रिटर्न पाने की ख्‍वाहिश रखते हैं, उन्‍हें इंडेक्‍स फंड का विकल्‍प चुनना चाहिए.

ये भी पढ़ें – मंदिरों पर खींचता था लोगों की फोटो, चांदनी चौक में बेची कैसेट, फिर 20 हजार से बना दी 6500 करोड़ की कंपनी

कैसे काम करता है इंडेक्‍स फंड
इंडेक्‍स फंड का मतलब एक्‍सचेंज से होता है. मसलन, एनएसई निफ्टी और बीएसई सेंसेक्‍स जैसे एक्‍सचेंज खुद के फंड जारी करते हैं. वैसे तो एनएसई पर करीब 627 कंपनियां लिस्‍टेड हैं, लेकिन निफ्टी इनमें से सबसे अच्‍छा प्रदर्शन करने वाली टॉप 50 कंपनियों को ही लिस्‍ट में रखता है और अपने फंड का पैसा इन्‍हीं कंपनियों में निवेश करता है. इसी तरह, बीएसई पर भी करीब 2,600 कंपनियां लिस्‍टेड हैं लेकिन सेंसेक्‍स का इंडेक्‍स टॉप 30 कंपनियों के आधार पर ही काम करता है और इसी में अपना पैसा निवेश करता है.

बेफिक्र हो जाता है निवेशक
इंडेक्‍स फंड में पैसे लगाने वाले निवेशक बेफिक्र हो जाते हैं. उन्‍हें खुद अपने फंड की निगरानी करने की जरूरत नहीं पड़ती है. अमूमन इक्विटी फंड में निवेश करने वाले को समय-समय पर अपना पोर्टफोलियो बदलना पड़ता है, लेकिन इंडेक्‍स फंड खुद खराब प्रदर्शन करने वाली कंपनियों को लिस्‍ट से बाहर कर देते हैं. लिहाजा पूरी तरह इक्विटी आधारित इन फंडों में जोखिम का स्‍तर कम हो जाता है.

चढ़ते बाजार में खूब मिला रिटर्न
अगर आप शेयर बाजार को देखें तो 2023 में निफ्टी और सेंसेक्‍स दोनों ने ही करीब 20 फीसदी का उछाल हासिल किया है. 2024 में भी एक्‍सपर्ट का अनुमान है दोनों एक्‍सचेंज पर 15 फीसदी से ज्‍यादा की तेजी रह सकती है. इंडेक्‍स फंड की बात करें तो 1957 में इनकी शुरुआत के बाद से 2023 तक सालाना औसतन 10.26% का रिटर्न दिया है. अगर कोई व्‍यक्ति 7 साल या उससे ज्‍यादा के लांग टर्म के लिए निवेश करता है तो उसे 10 से 12 फीसदी का रिटर्न आराम से मिल जाता है.

ये भी पढ़ें – इन कंपनियों का दिल सबसे बड़ा! कर्मचारियों को बांटे फ्लैट, कार और करोड़ों के शेयर, चपरासी को दिया SUV

  • सबसे ज्‍यादा रिटर्न देने वाले इंडेक्‍स
  • LIC MF Nifty Next 50 Index Fund ने 10 साल में 16 फीसदी तो बीते एक साल में 30 फीसदी का रिटर्न दिया है.
  • ICICI Prudential Nifty Next 50 Index Fund ने भी बीते 10 साल में 16 फीसदी तो एक साल में 30 फीसदी का रिटर्न दिया है.
  • Sundaram Nifty 100 Equal Weight Fund ने 10 साल की अवधि में 13 फीसदी तो सालभर के अंदर 32 फीसदी का रिटर्न दिया है.
  • ICICI Prudential Nifty Next 50 Index Fund ने 5 साल में 15 फीसदी तो एक साल में 30 फीसदी का रिटर्न दिया है.
  • UTI Nifty Next 50 Index Fund ने भी 5 साल में 15 और एक साल में 30 फीसदी का जबरदस्‍त रिटर्न दिया है.

Tags: Business news in hindi, Investment and return, Mutual fund, Mutual fund investors, Share market

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स