पपीता के पत्ते, गिलोय और बकरी का दूध डेंगू में हो सकता है खतरनाक, RIMS के डॉक्टर ने किया सावधान

Gypsy News

Gypsy News

शिखा श्रेया/रांची. डेंगू होते ही सबसे बड़ी समस्या यह उत्पन्न होती है कि मरीज के ब्लड में प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से घटने लगती है और प्लेटलेट्स कम होने की ये स्थिति काफी गंभीर होती है.कई बार इस वजह से मरीजों की मौत तक हो जाती है.लेकिन डेंगू के दौरान प्लेटलेट्स घटने पर कई लोगों से आपने सुना होगा पपीते के पत्ते का जूस, गिलोय या फिर बकरी का दूध पीने से प्लेटलेट्स तेजी से बढ़ता है. लेकिन इन बातों में कितनी सच्चाई है यह बता रहे हैं झारखंड की राजधानी रांची के रिम्स के जनरल फिजिशियन डॉ. जे के मित्रा.

रिम्स के डॉक्टर जेके मित्रा ने लोकल 18 को बताया अधिकतर डेंगू के मरीज गिलोय, बकरी का जूस या फिर पपीते के पत्ते का जूस का सेवन करते हैं. उन्हें लगता है कि इससे उनका प्लेटलेट्स बढ़ जाएगा और वह ठीक हो जाएंगे.लेकिन यह उनकी एक गलतफहमी है.इन सब चीजों का सेवन करने से ऐसा कुछ नहीं होता. क्योंकि मरीज काफी परेशान होता है और इसका कोई ठोस इलाज नहीं है. इसलिए लोगों के बताए इन अंतिम विकल्प का इस्तेमाल मरीज कर लेते हैं.

क्या मानना है साइंस का ?
डॉ. जे के मित्रा ने बताया इन चीजों का सेवन करने से प्लेटलेट्स बढ़ता है, इसका अभी तक साइंस के पास कोई प्रमाण नहीं है. ऐसा कोई रिसर्च रिजल्ट नहीं है जिससे प्रमाण हो पाए कि इन चीजों के सेवन से प्लेटलेट्स की मात्रा बढ़ जाएगी. इसीलिए इन चीजों को प्लेटलेट्स बढ़ाने के तौर पर हम पूरी तरह गलत मानते हैं .हालांकि पपीता फल के रूप में और बकरी का दूध में कई तरह के विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं जो आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाती है और आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को मजबूत करते है, लेकिन इससे प्लेटलेट्स नहीं बढ़ता.

नहीं है डेंगू का कोई ठोस इलाज
डॉ. जे के मित्रा ने आगे बताया डेंगू की बीमारी का कोई ठोस इलाज नहीं है. इसका इलाज बस एक ही है कि लोग साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें. डेंगू जैसी बीमारी अधिकतर गंदे पानी, गंदे चीजों का सेवन या गंदी वातावरण में रहने के कारण होता है. डेंगू होने पर कोशिश करनी चाहिए की अधिक से अधिक साफ सफाई का ध्यान रखें व साफ और हेल्दी डाइट लें.

क्या है प्लेटलेट्स का काम ?
डॉ. जे के मित्रा ने आगे बताया कि प्लेटलेट्स ऐसी चीज है जो खून का थक्का बनाने का काम करती है.कहीं चोट लग जाए तो उस जगह प्लेटलेट खून का थक्का बना लेती है. जिससे अधिक खून नहीं गिरता और घाव जल्दी भरता है. अगर शरीर में प्लेटलेट्स की मात्रा कम होगी तो नाक, कान या शरीर के अन्य जगह से खून का बहाव हो सकता है ,जो जानलेवा साबित हो सकता है. प्लेटलेट्स इंसान में अपने आप घटते बढ़ते रहता है. डेंगू में आप जैसे ही खान-पान व साफ सफाई में परहेज करेंगे प्लेटलेट्स की मात्रा भी अपने आप धीरे-धीरे बढ़ती चली जाएगी.

बकरी का दूध और गिलोय हो सकता है खतरनाक
डॉ. जे के मित्रा ने आगे बताया कि डेंगू का इलाज साफ सफाई और अच्छी खान पान है.बकरी का दूध ,गिलोय या फिर पपीते के पत्ते के जूस जैसी चीज का सेवन करने से बचे.क्योंकि कई बार मरीजों में देखा गया है कि इन चीजों का उनपर नकारात्मक असर पड़ा है और इन चीजों के सेवन की वजह से मरीजों की जान चली गई. डॉक्टर के सलाह के बिना भूल कर भी इन चीजों का सेवन बिलकुल न करें.

Tags: Health tips, Jharkhand news, Life18, Local18, Ranchi news

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स