Career : क्या आप भी भर्ती रैली में जा रहे हैं, दौड़ते वक्त ये गलती न करें, इन बातों का रखें ध्यान

Gypsy News

Gypsy News

रिपोर्ट-विशाल भटनागर
मेरठ. ये खबर खासतौर से उन युवाओं के लिए है जो सेना और पुलिस सहित अन्य सुरक्षा बलों में भर्ती के लिए तैयारी कर रहे हैं. फिजिकल टेस्ट के लिए ये तैयारी सुबह की दौड़ से शुरू होती है. लेकिन छोटी सी चूक या कहें असावधानी जानलेवा साबित हो सकती है. इसलिए इन बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है.

अगर आप भी विभिन्न फोर्स में भर्ती होने के लिए रोज सुबह या शाम दौड़ लगाते हैं. दौड़ लगाते समय अगर आपको किसी भी प्रकार की कोई समस्या महसूस हो रही है तो जरा भी लापरवाही नहीं बरतें. बल्कि किसी भी भर्ती रैली में जाने से पहले ऐसे सभी युवा हृदय स्पेशलिस्ट या अन्य प्रकार के एक्सपर्ट से अपनी जांच अवश्य कराएं. ताकि भर्ती के दौरान दौड़ लगाते समय किसी प्रकार की समस्या नहीं हों.

क्या कहते हैं डॉक्टर
लोकल 18 की टीम ने मेरठ मेडिकल कॉलेज के कार्डियोलॉजी एचओडी डॉक्टर धीरज कुमार सोनी से बात की. उन्होंने बताया जो भी युवा भर्ती रैली की तैयारी के लिए रोज दौड़ लगाते हैं उन सभी को अपने चेकअप के साथ ईको, ईसीजी कराएं. साथ ही डॉक्टर की सलाह मानें

ऐसे बचायी जा सकती है जान
डॉ सोनी ने बताया युवाओं को अगर दिल से संबंधित कोई भी समस्या है तो समय पर उसका इलाज हो सकता है. कई बार देखने में आता है दौड़ते समय युवा अचानक गिर जाते हैं. उनकी हृदय गति रुक जाती है. ऐसे युवाओं को बचा पाना फिर संभव नहीं होता. क्योंकि काफी समय निकल जाता है. अगर पहले से ही युवा रुटीन चेकअप कराएंगे. तो उनकी जो भी समस्या होगी उसका एक्सपर्ट पहले ही निदान कर सकते हैं.

समय समय पर करें जांच
अगर किसी भी परिवार में दिल से संबंधित समस्या माता-पिता को है. तो ऐसे युवाओं को खास तौर पर जांच करानी चाहिए. क्योंकि दिल की बीमारी अनुवांशिकी हो सकती है. इतना ही नहीं अगर युवाओं को पहले किसी भी प्रकार की कोई भी समस्या हुई है. तो वह भी इसे नजरअंदाज न करें.

फास्ट फूड है ज़हर
कार्डियोलॉजिस्ट डॉ सोनी ये भी खासतौर से सलाह देते हैं कि अगर भर्ती की तैयारी करने वाले युवा फास्ट फूड का उपयोग करते हैं तो फौरन ये खाना बंद कर दें. फास्ट फूड जिस तेल में बनाया जाता है उससे युवाओं की सांस फूलने सहित अन्य समस्याएं हो जाती हैं. सभी युवा अपनी डाइट में फल और हरी सब्जियों को ज्यादा मात्रा में शामिल करें. डाक्टर कहते हैं दिल और सांस की समस्या 20 से 35 साल तक के युवाओं में अधिक देखने मिल रही है. इसकी बड़ी वजह सिगरेट और शराब है.

Tags: Army Bharti, Heart attack, Local18, Meerut city news, Sena Bharti

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स