औषधि से कम नहीं शकरकंद, पोषक तत्वों का भंडार, हड्डियों से लेकर दिल तक के लिए फायदेमंद

Gypsy News

Gypsy News

ऋषभ चौरसिया/लखनऊःठंड आते ही लोग अपनी सेहत का खास ध्यान रखना शुरू कर देते हैं और खानपान में बदलाव करते हैं ,ताकि वह मौसम में हो रहे परिवर्तन में भी फिट रह सकें.ऐसे में कई लोग सर्दियों के आते ही शकरकंद का सेवन शुरू कर देते हैं. शकरकंद खाने में जितना स्वादिष्ट होता है,स्वास्थ्य के लिए भी उतना ही फायदेमंद होता है,तो चलिए जानते हैं लखनऊ केजीएमयू की चीफ डाइटिशियन डॉक्टर सुनीता सक्सेना से इससे होने वाले फायदों के बारे में.

डॉ. सुनीता सक्सेना ने लोकल 18 को बताया कि सर्दियों के मौसम में बहुत सारे मौसमी फल और सब्जियां उपलब्ध होते हैं,जो सेहत के लिहाज से काफी हेल्दी होते हैं,उसमें से एक शकरकंद है, जिसे स्वीट पोटैटो भी कहते हैं.शायद यही वजह है कि कुछ लोग इसे आलू से जोड़कर भी देखते हैं, शकरकंद विटामिन सी, विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स, आयरन, फॉस्फोरस और बीटा कैरोटीन का स्रोत है.जिसके कारण ये पौष्टिकता से भरपूर होता है. शकरकंद मीठा, थोड़ा ठंडा और गरम, वात और पित्त को कम करने वाला,शक्ति को बढ़ाने वाला और कब्ज से राहत दिलाने वाला होता है.

शकरकंद खाने के फायदे
डॉ. सुनीता सक्सेना ने बताया कि शकरकंद में मौजूद कैरोटीनॉयड कैंसर के जोखिम को कम कर सकता है. शकरकंद एंथोसायनिन नामक एक अन्य प्राकृतिक यौगिक में भी उच्च होता है, जो कोलोरेक्टल कैंसर होने की संभावना को कम कर सकता है. लेकिन अगर आप कैंसर रोगी हैं, तो चिकित्सक की सलाह पर ही इसका सेवन करें.

पाचन क्रिया के लिए फायदेमंद है
शकरकंद फाइबर का एक बेहतरीन स्रोत है, जो हेल्थ और डाइजेशन के लिए बेहद महत्वपूर्ण होते है.इसके सेवन से एडल्ट और बच्चे दोनों में कांसेपशियन की समस्या नहीं होती और यह बॉवेल मूवमेंट के बेहतर रेगुलेशन में मदद करता है.इसके साथ ही शकरकंद का सेवन गैस्ट्रिक, अल्सर को मैनेज करने में भी आपकी मदद करता है.

हड्डियों की मजबूती के लिए
कैल्शियम की कमी के कारण हड्डियां कमजोर हो सकती है.इसलिए हड्डियों की मजबूती के लिए शकरकंद का उपयोग किया जा सकता है.क्योंकि शकरकंद में कैल्शियम व मैग्नीशियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जिस कारण यह हड्डियों के लिए फायदेमंद हो सकता है. साथ ही कैल्शियम व मैग्नीशियम हड्डियों को मजबूती देने के साथ ही उनके विकास में भी मददगार होता है.

हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखे
शकरकंद में फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा पाई जाती है, जो कार्डियोवैस्कुलर डिजीज के खतरे को कम कर देते हैं.इसके साथ ही इसके सेवन से क्रोनरी डिजीज नहीं होती.

ब्लड शुगर लेवल को स्थाई रखने में मदद करता
डॉ. सुनीता सक्सेना के अनुसार, स्वीट पोटैटो में भरपूर मात्रा मे कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है.इसके साथ ही यह मैग्नीशियम और फाइबर का एक बेहतरीन स्रोत है, जो इंसुलिन रेजिस्टेंस को कम करता है और ब्लड शुगर लेवल को स्थाई रखने में मदद करता है.इसमें मौजूद बीटा कैरोटीन और अन्य महत्वपूर्ण विटामिन और मिनरल्स इसे टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों के लिए बेहद खास बना देते हैं.आप इसे उबालकर या आग में भूनकर खा सकते हैं.

Tags: Food 18, Health benefit, Hindi news, Local18

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स