सावधान! ठंड के दिनों में अगर नहीं ले रहे हैं धूप, तो हो सकती है यह खतरनाक बीमारी, जानिए लक्षण

Gypsy News

Gypsy News

रजनीश यादव/ प्रयागराज: देशभर में सर्दी का कहर लगातार जारी है. हाड़ कंपाने वाली ठंड ने जीना मुहाल कर दिया है. कोहरा ने भी आम जनता को परेशान करके रख दिया है. ऐसे में लोगों को हफ्ते हफ्ते भर धूप नहीं मिल रही है. लगातार कुछ दिनों तक धूप न मिलने से लोगों के अंदर मानसिक विकार उत्पन्न होने लगता है. ठंड के महीनों में कई लोगों को अपनी मानसिक स्थिति में बदलाव नजर आने लगता है. इसे आम भाषा में ‘विंटर ब्लूज़’ कहा जाता है. जानिए विंटर ब्लूज से कैसे बचें?

काल्विन अस्पताल प्रयागराज के मनोचिकित्सक डॉ. राकेश पासवान बताते हैं कि ठंडे प्रदेशों में लगातार धूप न होने से वहां के स्थानीय लोग मानसिक बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं. उनके शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाती है. इसका असर उत्तर भारत में भी कुछ लोगों में देखने को मिला. डॉ. बताते हैं कि मानसिक बीमारी से ग्रसित लोगों का मानसिक विकार ठंड के मौसम में बढ़ जाने से परामर्श लेने अस्पताल आते हैं. उनका अध्ययन करने पर पाया गया कि यह भी ठंडे प्रदेशों में होने वाले विंटर ब्लूज बीमारी के समान ही लक्षण दिख रहा है. हालांकि उन लोगों को दवा देने के साथ ही धूप में बैठने की सलाह दी गई.

क्या हैं इस बीमारी के लक्षण

डॉ राकेश पासवान बताते हैं कि इस बीमारी में चिड़चिड़ापन नहीं बनाना उदासी बेचैनी घबराहट होती है. अगर आपको एक सप्ताह से ऐसी समस्या आ रही है तो आपको यह बीमारी हो सकती है. इससे लोगों में अवसाद की समस्या बढ़ने लगती है. डॉ. राकेश पासवान बताते हैं कि इस समय प्रतिदिन लगभग 8 मरीज अस्पताल जाकर एक्सपर्ट से परामर्श ले रहे हैं.

कैसे करें बचाव

इससे बचाव के लिए प्रतिदिन योग एक्सरसाइज करें येलो लाइट का प्रयोग करें और साथ ही खान-पान का विशेष ध्यान रखें. खानपान में पौष्टिक आहार सीजनल फल और ड्राई फ्रूट का सेवन करें. जंक फूड के सेवन से एकदम परहेज करें.

Tags: Health News, Health tips, Hindi news, Local18, UP news

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स