करामाती पौधा… हृदयरोग नहीं होने देगा, किडनी रखेगा तंदुरुस्त; खांसी-जुकाम से दिलाएगा छुटकारा

Gypsy News

Gypsy News

निखिल त्यागी / सहारनपुरः कड़ाके की ठंड के बीच बदले मौसम की वजह से कई बीमारियों ने लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है. सर्दी बढ़ते ही बुखार, जुकाम, खांसी, जोड़ों के दर्द आदि रोगों से घिरे लोग चिकित्सकों के पास इलाज कराने पहुंच रहे हैं. इस बीच यूपी के सहारनपुर के प्राकृतिक संस्थान के डॉक्‍टर ने देसी जड़ी बूटी से कई बीमारियों का इलाज करने का दावा किया है.

प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र सहारनपुर के डॉक्‍टर राजेन्द्र अटल ने नर्सरी में उपलब्ध एक पौधे की पत्तियों से बनी चाय और काढ़े से बुखार ही नहीं बल्कि कोरोना जैसी जानलेवा बीमारी से बचने का भी दावा किया है. यही नहीं, कई साल से आयुर्वेदिक चिकित्सा दे रहे राजेन्द्र ने सामाजिक संस्थाओं और स्कूलों में लेमनग्रास के पौधे का निशुल्क रोपण भी कराया है. इसके साथ लोगों को इसके बारे में पूरी जानकारी भी दी है.

संजीवनी जड़ी बूटी है लेमन ग्रास का पौधा
प्राकृतिक चिकित्सक राजेन्द्र अटल ने बताया कि सर्दी के मौसम में बुखार से पीड़ित मरीज को लेमन ग्रास (सिंट्रोला) की चाय पिलाने से स्वास्थ्य लाभ मिलता है. साथ ही बताया कि इस पौधे की पत्ती को उबालकर काढ़ा बनाकर सुबह खाली पेट पीना चाहिए. इससे व्यक्ति को शारीरिक रूप से मजबूती मिलती है. साथ ही रोग का नाश भी होता है. उन्होंने बताया कि यह पौधा किसी भी नर्सरी में 20 से 30 रुपये में मिल जाएगा. इसको अपने घर पर लगाकर आप कई रोगों का उपचार कर सकते हैं.

स्कूलों में इस पौधे का निशुल्क रोपण
राजेंद्र अटल ने बताया कि हमने व्यक्तिगत रूप से कई संस्थाओं व स्कूलों में इस पौधे का निशुल्क रोपण कराया है. सर्दी के मौसम में बुखार, जोड़ों के दर्द, जुकाम, खांसी, अपच, मलेरिया, उल्टी, दस्त, गठिया बाय, हड्डी रोग आदि रोगों में यह पौधा बहुत ही कारगर जड़ी बूटी के रूप में काम करता है. इस पौधे में कैल्शियम, मैग्नीशियम व फास्फोरस है. इसके अलावा हृदय के रोगियों के लिए भी यह पौधा संजीवनी की तरह काम करता है. उन्होंने दावा किया कि कोरोना जैसी घातक जानलेवा बीमारी को भी इस पौधे की चाय का सेवन करने से दूर किया जा सकता है.

रोगों को खत्म करने की ताकत
डॉक्‍टर राजेंद्र अटल ने बताया कि लेमन ग्रास चाय में एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जोकि पाचन में सुधार कर सकते हैं. लेमनग्रास एसेंशियल ऑयल में उच्च मात्रा में एंटी-फंगल गुण होते हैं. यह शरीर पर फंगल संक्रमण के विकास के खिलाफ काम करता है. लेमन ग्रास का सेवन करने से शरीर के टॉक्सिन पेशाब के जरिए बाहर निकल जाती है. इसके अलावा यह किडनी फंक्शन बेहतर बन सकती है. लेमन ग्रास में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं. यह मुंहासों और संक्रमण फैलाने वाले कीटाणुओं से लड़ते हैं और उन्हें जड़ से खत्म कर सकते हैं.

Disclaimer: इस खबर में दी गई दवा/औषधि और हेल्थ बेनिफिट रेसिपी की सलाह, हमारे एक्सपर्ट्स से की गई चर्चा के आधार पर है. यह सामान्य जानकारी है, न कि व्यक्तिगत सलाह. हर व्यक्ति की आवश्यकताएं अलग हैं, इसलिए डॉक्टर्स से परामर्श के बाद ही, कोई चीज उपयोग करें. कृपया ध्यान दें, Local-18 की टीम किसी भी उपयोग से होने वाले नुकसान के लिए जिम्मेदार नहीं होगी.

Tags: Health News, Heart Disease, Local18

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स