डायबिटीज के मरीजों को चुकंदर खाना चाहिए या नहीं? 90% लोगों में रहती है कंफ्यूजन, एक्सपर्ट से जानें सच्चाई

Gypsy News

Gypsy News

हाइलाइट्स

डायबिटीज के मरीजों को सर्दियों में चुकंदर यानी बीटरूट का सेवन फायदेमंद है.
चुकंदर का ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, जो शुगर लेवल को बढ़ने से रोकता है.

Beetroot in Diabetes: आजकल डायबिटीज की समस्या होना लगभग सामान्य सी बात हो गई है. बच्चा, युवा या फिर बूढ़ा, डायबिटीज ने अपने शिकंजे में लेने से किसी को नहीं छोड़ा है. इसका सबसे बड़ा कारण अनहेल्दी लाइफस्टाइल और गलत खानपान है. इसलिए डायबिटीज के मरीजों को अपने खान-पान में ऐसी चीजें शामिल करनी चाहिए, जिसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स लो हो. ऐसे में डायबिटीज के मरीजों को कोई भी चीज खाने से पहले सौ बार सोचना पड़ता है. इसलिए ज्यादातर शुगर के मरीजों का सवाल होता है कि डायबिटीज में क्या खाएं और न खाएं? इसमें से एक है चुकंदर. जी हां, स्वाद में मीठी लगने वाली चुकंदर को डायबिटीज पेशेंट ये सोचकर नहीं खाते कि, इससे कहीं डायबिटिज बढ़ न जाए. लेकिन ये सवाल यहां भी उठता है कि, क्या चुकंदर खाने से सच में शुगर लेवल बढ़ जाता है. आइए सेंट्रल कमांड हॉस्पिटल लखनऊ के डाइटिशियन एवं डायबिटीज एजुकेटर रोहित यादव से जानते हैं हकीकत-

क्या शुगर में चुकंदर खाना फायदेमंद?

डाइटिशियन रोहित यादव के मुताबिक, चुकंदर (बीटरूट) पोषक तत्वों का खजाना मानी जाती है. चुकंदर अपने शानदार रंग, हल्के मीठे स्वाद के साथ-साथ शरीर के लिए जरूरी विटामिन्स, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट जैसे तमाम गुणों के लिए जानी जाती है. वैसे तो चुकंदर को आप किसी भी मौसम में खा सकते हैं, लेकिन सर्दी के लिए ये अधिक फायदेमंद मानी जाती है. यही वजह है कि हेल्थ एक्सपर्ट सर्दी में चुकंदर खाने की सलाह जरूर देते हैं. कुल मिलाकर सर्दी में डायबिटीज के मरीजों के लिए चुकंदर का सेवन सेफ है.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट?

डाइटिशियन रोहित यादव के मुताबिक, डायबिटिज के मरीजों को क्या खाना चाहिए, और क्या नहीं. इस बात को लेकर काफी कन्फ्यूजन रहती है. चुकंदर में नाइट्रेट होते हैं, जो नाइट्रिक ऑक्साइड में बदलकर रक्त वाहिका के विस्तार में मदद करते हैं, साथ ही बल्ड प्रेशर को भी कंट्रोल करते हैं, जो मधुमेह रोगियों के लिए अच्छा है. इसके अलावा, चुकंदर का ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी कम होता है, यानी ये ब्लड में शुगर की मात्रा को बढ़ने से रोकता है. यही वजह है कि चुकंदर डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है.

इंसुलिन उत्पादन को बढ़ाए

हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार, पोषक तत्वों से भरपूर चुकंदर में मौजूद आहारीय फाइबर डायबिटीज के रोगियों में बेहतर ग्लाइसेमिक नियंत्रण और बेहतर पाचन स्वास्थ्य में योगदान करता है. इसमें मैंगनीज की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो इंसुलिन के उत्पादन को बढ़ाने में सहायक है, जिससे पेशेंट का शुगर लेवल मैनेज रहता है. इस तरह बीटरूट कई तरह से डायबिटीज से पीड़ित लोगों को फायदा पहुंचा सकती है.

ये भी पढ़ें:  ऐसे खाएंगे काजू तो लोहे की तरह मजबूत हो जाएंगी हड्डियां, ताउम्र रहेंगे सेहतमंद, एक्सपर्ट से जानें खाने का सही तरीका

सूजन और सट्रेस कम करे

एक्सपर्ट के मुताबिक, जड़ से प्राप्त होने वाली चुकंदर डायबिटीज के साथ-साथ सूजन और मानसिक तनाव दूर करने में भी असरदार है. दरअसल, ज्यादातर लोगों में शुगर लेवल बढ़ने के साथ सूजन और स्ट्रेस बढ़ने की समस्या देखी गई है. ऐसे में चुकंदर के सेवन से इन परेशानियों से निजात पाया जा सकता है. क्योंकि, चुकंदर बीटालेंस और फेनोलिक यौगिक की अच्छी स्रोत है. साथ ही, इन यौगिकों में एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण भी पाए जाते हैं, जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस और सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें:  कोशिशों के बाद भी डायबिटीज नहीं रहा कंट्रोल? आज से ही खानी शुरू कर दें ये 5 चीजें, काबू में रहेगा ब्लड शुगर लेवल

एक्सपर्ट की सलाह जरूरी

डायबिटीज में गलत खानपान ब्लड में शुगर लेवल को बढ़ा सकता है. इसलिए किसी भी चीज का सेवन करने से पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूरी है. हालांकि, बीटरूट यानी चुकंदर का सेवन सिर्फ खाने से पहले करें. क्योंकि, बीटरूट में कुछ मात्रा में नेचुरल शुगर मौजूद होती है, इस स्थिति में अगर आप भोजन के साथ इसे खाते हैं तो यह ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकती है. वहीं, यदि आप भोजन से पहले चुकंदर खाते हैं, तो इसमें मौजूद नेचुरल शुगर धीरे-धीरे शरीर को एनर्जी देने का काम करती है. वहीं, ध्यान रखें कि चुकंदर का सेवन आधा कप ही करें.

Tags: Diabetes, Health, Lifestyle

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स