मेडिसिन की तरह है ये डांस! यहां महिलाएं एक घंटे में हो रहीं फिट, चेहरे पर आ रहा ग्लो

Gypsy News

Gypsy News

ओम प्रकाश निरंजन/कोडरमा: आज के समय में महिलाएं अपने शरीर को फिट रखने और चेहरे पर ग्लो लाने के लिए तमाम नुस्खे अपनाती हैं. लेकिन, कोडरमा में इन दिनों 50 वर्ष तक की महिलाएं जुंबा और एरोबिक्स डांस के माध्यम से अपने आप को फिट रख रही हैं. महिलाओं ने बताया कि इससे उन्हें तनाव से मुक्ति मिलती है और वजन कम करने में भी यह काफी सहायक हो रहा है.

एक घंटे में दूर होता है दिन भर का तनाव
झुमरी तिलैया की गांधी स्कूल रोड में संचालित द किंग डांस एकेडमी में शहर के अलावा 12-15 किलोमीटर दूर की महिलाएं रोज शाम में डांस क्लास के जरिए खुद को फिट रख रही हैं. संचालक मिथलेश सिंह ने बताया कि डांस क्लास में घरेलू कामकाजी महिला के अलावा वकील, शिक्षिका समेत वर्किंग वूमेन यहां एक घंटा क्लास कर दिन भर के तनाव को दूर करते हुए खुद को फिट रखती हैं.

अब पार्टी और फंक्शन में नहीं झेलनी पड़ती शर्मिंदगी
जुंबा और एरोबिक्स डांस क्लास करने वाली महिलाओं ने बताया कि पहले सभी अपनी फिटनेस को लेकर काफी चिंतित थीं, लेकिन जब से उन्होंने डांस क्लास को ज्वाइन किया है, तब से उन्हें इस समस्या से मुक्ति मिली है. डांस नहीं आने पर किसी पार्टी या फंक्शन में जाने पर उन्हें शर्मिंदगी झेलनी पड़ती थी, जिसके कारण वह अन्य महिला की तरह खुलकर एंजॉय और डांस नहीं कर पाती थी. डांस क्लास के बाद उनके आत्मविश्वास में वृद्धि हुई है और सभी अपने जीवन को खुलकर जी रही हैं.

डांस से वजन कम करने में मिली मदद
डांस के माध्यम से शरीर को फिट रखने के लिए प्रीति कुमारी करीब 15 किलोमीटर दूर कोडरमा से नियमित तौर पर डांस क्लास करने आती हैं. रिंकी राज ने बताया कि जुंबा डांस के माध्यम से दिन भर की थकान से पूरा शरीर रिलैक्स फील होता है. डांस क्लास से उनका करीब 10 किलो वजन भी काम हुआ है. डांस से शरीर लचीला बनता है.

चेहरे पर खुशी और ग्लो लेकर लौटती हैं घर
लक्ष्मी वर्णवाल ने बताया कि शाम के डांस क्लास को लेकर वह अपने घरेलू कामकाज को जल्दी निपटाकर यहां पहुंचती हैं. यहां अपनी उम्र की महिलाओं से मिलकर डांस करते हुए शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रखती हैं. बताया कि यहां पहुंचने पर उन्हें ऐसा लगता है कि हम सभी अपने बचपन के दिनों में वापस लौट आए हैं. क्लास के बाद घर जाने पर चेहरे पर खुशी और ग्लो रहता है.

मेडिसिन के रूप में काम करता है डांस
दीपा सिंकर ने बताया कि वह 6 वर्षों से डांस के माध्यम से खुद को फिट रख रही हैं. शुरुआती दौर में घरवाले डांस करने से मना करते थे. लेकिन जब डांस के जरिए वह फिट रहने लगीं तो घरवालों का भी सहयोग मिलता है. डांस करने से तनाव कम होता है. यह एक तरह से मेडिसिन के रूप में काम करता है. डांस के दौरान म्यूजिक की धुन पर एंजॉय करते हुए हमारे शरीर के सभी अंगों की कसरत होती है.

Tags: Dance, Health News, Kodarma news, Local18

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स