क्या है मां बनने के लिए सबसे अच्छी उम्र, 40 की उम्र के बाद मां बनना हो तो क्या करें? डॉक्टर से जानें तरीका

Gypsy News

Gypsy News

हाइलाइट्स

एग फ्रीजिंग के जरिए महिलाएं 40 की उम्र के बाद भी मां बन सकती हैं.
महिलाओं की फर्टिलिटी 20 से 30 साल की उम्र के बीच सबसे ज्यादा होती है.

What is Best Age For Pregnancy: अधिकतर महिलाओं के दिमाग में एक सवाल होता है कि मां बनने की परफेक्ट उम्र क्या होती है? कभी न कभी हर किसी महिला को इस बारे में सोचने की जरूरत पड़ती है. कुछ लोग 20 साल की उम्र को मां बनने के लिए बेस्ट मानते हैं, तो कई महिलाएं 40 की उम्र को प्रेग्नेंसी के लिए परफेक्ट मानती हैं. इस बात को लेकर हर किसी की राय अलग होती है और कई बार इसे लेकर बहस भी देखने को मिलती है. तमाम हेल्थ एक्सपर्ट्स भी मां बनने की उम्र को लेकर अलग-अलग राय देते हैं. अब सवाल है कि क्या वाकई मां बनने के लिए कोई सही उम्र होती है? अगर कोई महिला 40 की उम्र के बाद मां बनना चाहे, तो यह कैसे हो सकता है? इस बारे में कई फैक्ट जान लीजिए.

अमेरिकन कॉन्ग्रेस फॉर ऑब्स्टेट्रिशियंस एंड गायनेकोलॉजिस्ट (ACOG) के अनुसार महिलाओं की फर्टिलिटी 18 साल से लेकर 30 साल तक सबसे ज्यादा होती है. 30 साल की उम्र के बाद फर्टिलिटी में गिरावट होने लगती है. 40 की उम्र के बाद प्रेग्नेंसी की संभावना काफी कम हो जाती है. मेनोपॉज की उम्र करीब 50 साल होती है और मेनोपॉज से पहले तक महिलाएं प्रेग्नेंट हो सकती हैं. मेनोपॉज के बाद महिलाएं नेचुरल तरीके से प्रेग्नेंट नहीं हो सकती हैं. हालांकि आज के जमाने में कई ऐसी टेक्नोलॉजी हैं, जिसके जरिए महिलाएं लंबी उम्र तक मां बनने का सुख हासिल कर सकती हैं. इनमें फर्टिलिटी प्रिजर्वेशन सबसे अच्छा तरीका माना जाता है. इससे महिलाएं लंबी उम्र तक प्रेग्नेंट हो सकती हैं.

40 की उम्र के बाद मां बनने के लिए क्या करें?

दिल्ली के ग्रेटर कैलाश स्थित फोर्टिस ला फेम हॉस्पिटल की इनफर्टिलिटी एक्सपर्ट डॉ. सुनीता अरोरा के मुताबिक जो महिलाएं किसी न किसी कारण से प्रेग्नेंसी को टालना चाहती हैं, वे फर्टिलिटी प्रिजर्वेशन का सहारा ले सकती हैं. एग प्रिजर्वेशन उम्र की एक सीमा के बाद भी अपना खुद का आनुवंशिक बच्चा पैदा करने का तरीका है. अगर कोई लड़की कम उम्र में एग प्रिजर्व करवा ले, तो फर्टिलाइज्ड एग्स को पार्टनर के स्पर्म के साथ मिलाने के बाद लंबे समय तक संरक्षित किए जा सकते हैं.

जैसे-जैसे महिलाओं की उम्र बढ़ती है, वैसे-वैसे अंडों में आनुवंशिक समस्याएं होने की संभावना काफी बढ़ जाती है. 30 साल की उम्र में डाउन्स सिंड्रोम की संभावना 900 में से 1 है जबकि 40 साल की उम्र में 100 में से 1 है, जो काफी ज्यादा है. इसलिए 30-35 की उम्र के बीच अपने अंडे फ्रीज करवाने पर भी परेशानी नहीं होती. भले ही आप 40 की उम्र के करीब बच्चे पैदा करना चाहती हों.

कैसे होती है एग फ्रीज करवाने की प्रक्रिया?

डॉ. सुनीता अरोरा की मानें तो एग प्रिजर्व करने से 40 की उम्र के बाद भी भ्रूण में आनुवंशिक क्षमता 30 की उम्र के समान ही होगी. जैसे-जैसे महिलाओं की उम्र बढ़ती है, अंडाशय में प्रजनन क्षमता और अंडों की संख्या कम हो जाती है और इसलिए यह आपके अंडों को फ्रीज करने का एक समझदारी वाला विकल्प है. एग फ्रीजिंग प्रक्रिया के लिए आपको कुछ ब्लड टेस्ट भी करवाने होते हैं और फिर पीरियड के दूसरे या तीसरे दिन से हार्मोनल इंजेक्शन लगने शुरू हो जाते हैं. इंजेक्शन शुरू होने के बाद इस प्रक्रिया में 10-12 दिन लगते हैं. यह प्रक्रिया शरीर पर कोई कट लगाए बिना, थोड़े एनेस्थीसिया के तहत होती है. यह एक दर्द रहित प्रक्रिया है और आपको उसी दिन छुट्टी दे दी जाती है. हार्मोनल इंजेक्शन के 10-11 दिनों के दौरान आप नियमित गतिविधि जारी रख सकते हैं.

यह भी पढ़ें- शरीर के कोने-कोने में जमा कोलेस्ट्रॉल निकल जाएगा बाहर, खाली पेट खाएं सिर्फ एक चुटकी मसाला, दवा से भी ज्यादा पावरफुल

यह भी पढ़ें- लाख कोशिशों के बाद भी कमजोर है इम्यूनिटी, सिर्फ 30 मिनट में हो जाएगी बूस्ट, बस करना होगा छोटा सा काम

Tags: Health, Lifestyle, Pregnant Women, Woman

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स