खाते हैं हरा आलू? शरीर में जाते ही बन जाता है जहर, बेहद है खतरनाक, न्यूट्रिशनिस्ट कविता देवगन ने बताए कई नुकसान

Gypsy News

Gypsy News

हाइलाइट्स

हरे रंग का आलू टॉक्सिक होता है. इसमें नुकसानदायक कम्पाउंड सोलानिन होता है.
हरे आलू के सेवन से सिरदर्द, डायरिया, पेट दर्द, फूड पॉइजनिंग आदि समस्याएं हो सकती हैं.

Green Potato Side Effects: आलू का इस्तेमाल हर घर में सब्जी बनाने लिए प्रतिदिन होता है. कोई हरी सब्जी घर में ना भी हो तो भी आलू की सब्जी, भरता, भुजिया तो बनाकर लोग खा ही लेते हैं. कई बार आपने गौर किया होगा कि कुछ आलू छीलने के बाद हरे नजर आते हैं. कुछ तो पूरे ही हरे होते हैं तो कुछ कहीं-कहीं से हरे होते हैं. तो क्या आप हरे आलू को भी खा लेते हैं? यदि हां, तो ऐसा करना आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है. आखिर कैसे हरा आलू खाना हानिकारक है, चलिए जानते हैं जानी मानी न्यूट्रिशनिस्ट कविता देवगन से.

हरा आलू खाने के नुकसान
न्यूट्रिशनिस्ट कविता देवगन कहती हैं कि हरा आलू अधिक खाना सेहत के लिए सही नहीं है. आलू तब हरा हो जाता है, जब इसमें ग्लाइकोलकोलॉएड (glycoalkoloid) नामक कम्पाउंड जिसे सोलानिन (Solanine) कहते हैं, बहुत अधिक होता है. जब आप हरा आलू अधिक खाते हैं तो पेट खराब हो सकता है. यह आमतौर पर टॉक्सिक होता है. इसके सेवन से आपको उल्टी आ सकती है. मितली महसूस हो सकती है. पेट में दर्द शुरू हो सकता है, जब आप इसे बार-बार खाते हैं. कुछ लोगों में तो डायरिया की समस्या भी हो सकती है. ऐसे में बेहतर है कि आप हरा आलू ना खाएं. दरअसल, सोलोनिन शरीर में अधिक जाने से उल्टी, मतली की समस्या शुरू हो सकती है.

कुछ मामलों में जब अधिक हरे रंग का आलू खा लिया जाए तो पाचन की समस्या, यहां तक की फूड पॉइजनिंग भी हो सकती है. कई बार ये सोलानिन सिरदर्द, बेचैनी का कारण भी बन सकता है. लगातार आप हरा आलू खाते हैं तो कुछ किस्म का कैंसर होने की आशंका बढ़ सकती है. बेहतर है कि आप इसे खाने से बचें. सोलानिन न्यूरोटॉक्सिन होता है, जिसके शरीर में जाने से सिरदर्द, उल्टी, मतली होने लगती है. इतना ही नहीं, बार-बार इसका सेवन किया जाए तो न्यूरोलॉजिकल समस्याएं भी हो सकती हैं.

ये भी पढ़ें: शरीर के कोने-कोने में जमा कोलेस्ट्रॉल निकल जाएगा बाहर, खाली पेट खाएं सिर्फ एक चुटकी मसाला, दवा से भी ज्यादा पावरफुल

जो आलू हरे रंग का होता है, उसका स्वाद भी थोड़ा कड़वा होता है और ये टॉक्सिन होने का संकेत है. फिर भी, बेहद कम हरे हुए आलू को आप तब ही खाएं, जब उसे बहुत अच्छी तरह से पकाया गया हो. पूरी तरह से आलू हरा दिखे, तो उसे फेंक देना ही सही है. आप चाहें तो हरे भाग को काट कर हटा दें, लेकिन हर दिन ऐसा आलू भूलकर भी ना खाएं.

आलू में मौजूद पोषक तत्व
आलू में पोटैशियम, विटामिन सी, बी6, के, फाइबर, नियासिन, थायमिन, राइबोफ्लेविन आदि होते हैं. पोटैशियम, फाइबर हार्ट, पाचन तंत्र के लिए अच्छे माने जाते हैं. इसमें कोलेस्ट्रॉल अधिक नहीं होता है.

Tags: Eat healthy, Health, Lifestyle

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स