ओडिशा ट्रेन हादसा: 130 दिनों बाद भी नहीं हो सकी 28 शवों की पहचान, जानें प्रशासन ने अब क्या किया?

Gypsy News

Gypsy News

भुवनेश्वर: ओडिशा के बालासोर जिले में हुए भीषण रेल हादसे के चार महीने बाद भुवनेश्वर नगर निगम ने 28 अज्ञात शवों की अंत्येष्टि प्रक्रिया मंगलवार को शुरू कर दी. इस हादसे में 297 लोगों को की मौत हो गई थी. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), भुवनेश्वर ने सीबीआई अधिकारियों की मौजूदगी में शवों को नगर निकाय अधिकारियों को सौंपना शुरू कर दिया है. हादसे की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने की थी. बता दें कि की 2 जून को यह ट्रेन हादसा हुआ था.

अधिकारियों ने बताया कि मंगलवार शाम तक, नौ शवों को अंतिम संस्कार के लिए नगर निकाय को सौंप दिया गया. जून में हुई दुर्घटना के बाद से शव एम्स भुवनेश्वर में रखे थे. चिकित्सा संस्थान के अधीक्षक दिलीप परिदा ने कहा, ‘हमने अंत्येष्टि के लिए सीबीआई अधिकारियों की मौजूदगी में शवों को नगर निकाय को सौंपने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. अब अंतिम संस्कार करना उनका काम है.’ नगर निकाय के आयुक्त विजय अमृता कुलंगे ने कहा, ‘हमने शवों का अंतिम संस्कार करना शुरू कर दिया है. हम अगले एक या दो दिन में प्रक्रिया पूरी करने की योजना बना रहे हैं.’

ओडिशा ट्रेन हादसा: 130 दिनों बाद भी नहीं हो सकी 28 शवों की पहचान, जानें प्रशासन ने अब क्या किया?

एम्स भुवनेश्वर में लाए गए 162 शवों में से 81 को पहले चरण में मृतकों के परिजनों को सौंप दिया गया था. अधिकारी ने कहा कि बाद में, डीएनए परीक्षण के बाद अन्य 53 शव परिजनों को सौंप दिए गए, लेकिन 28 शव लावारिस रह गए. शालीमार-चेन्नई सेंट्रल कोरोमंडल एक्सप्रेस, बेंगलुरु-हावड़ा सुपर फास्ट एक्सप्रेस और एक मालगाड़ी दो जून को बहानागा बाजार स्टेशन के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई थीं.

Tags: Odisha, Odisha news, Odisha Train Accident

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स