UPSC IAS Story: गांव से स्कूलिंग करके MBA की पढ़ाई, फिर बैंक में की नौकरी, तीसरे प्रयास में बनीं IAS ऑफिसर

Gypsy News

Gypsy News

Success Story: सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है. कुछ लोगों को इसे पास करने में एक साल से भी अधिक समय लग जाता है जबकि कुछ लोग इसे बिना किसी कोचिंग के भी पास कर लेते हैं. UPSC जैसी परीक्षा को पास करने के लिए बहुत अधिक समर्पण और दृढ़ संकल्प की आवश्यकता होती है. ऐसी ही एक कहानी है IAS पुष्पलता की है, जिन्होंने बेहतरीन रैंक के साथ UPSC की परीक्षा में सफलता हासिल की हैं.

IAS पुष्पलता यादव मूल रूप से हरियाणा के रेवाड़ी जिले के एक छोटे से गांव खुसबूरा की रहने वाली हैं. उनकी प्राइमरी शिक्षा गांव में ही हुई. इसके बाद उन्होंने बी.एस.सी और पोस्ट-ग्रेजुएशन करने के बाद MBA की पढ़ाई की हैं. पुष्पलता ने दो साल के लिए निजी क्षेत्र में काम करना शुरू किया और उन्हें स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद में असिस्टेंट मैनेजर के रूप में चुना गया.

शादी के बाद शुरू की UPSC की तैयारी
बाद में उन्होंने शादी कर ली और मानेसर में रहने लगीं. जब उनका 2 साल का बेटा था, तब उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा देने के लिए फिर से किताबें चुनने के बारे में सोचा. उन्होंने UPSC पेपर लिखने के लिए लगभग 4 साल तक तैयारी की और उनके परिवार ने उनका पूरा समर्थन किया. आख़िरकार वह UPSC सिविल सेवा का पेपर पास करने में सफल रहीं और उन्हें AIR 80 प्राप्त हुआ.

तीसरे प्रयास में क्रैक किया UPSC 
जब वह पढ़ाई में व्यस्त थी तो उसके पति अपने बेटे की देखभाल करते थे ताकि उनकी पत्नी ध्यान केंद्रित कर सके. वह सुबह 4 बजे उठती थी और कुछ देर पढ़ाई करती थी और फिर अपने बच्चे को स्कूल भेजती थी और उसके जाने के बाद भी पढ़ाई करती थी. स्कूल से आने के बाद वह उसे सुला कर पढ़ाई करती थी. वह दो बार असफल हुई लेकिन इससे वह हतोत्साहित नहीं हुई. उसने पढ़ाई जारी रखी और और भी अधिक ध्यान केंद्रित किया. तीसरे वर्ष में उन्होंने अंततः परीक्षा उत्तीर्ण की और वर्ष 2017 में 80वें स्थान पर रहीं.

ये भी पढ़ें…
सीटीईटी दिसंबर के लिए कब से भरे जाएंगे फॉर्म, क्या है एग्जाम पैटर्न? पढ़ें यहां पूरी डिटेल

Tags: IAS, Success Story, UPSC

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स