सिर्फ कंडोम ही नहीं है ऑप्शन, पुरुष गर्भनिरोध के कई और हैं तरीके, अधिकतर लोगों को नहीं होगा पता

Gypsy News

Gypsy News

हाइलाइट्स

स्पर्मीसाइड के नाम से ही समझा जा सकता है कि गर्भनिरोध के ये उपाय स्पर्म को मार देते हैं.
टेस्टोरोन इंजेक्शन पिट्यूटरी हार्मोन को रिलीज होने से रोकता है.

Male Birth Control Option: आमतौर पर बर्थ कंट्रोल का मतलब लोग या तो कंडोम को समझते हैं या महिलाओं की गर्भनिरोधक गोलियों को. गर्भनिरोधक गोलियों के कई दुष्प्रभाव सामने आने के बाद अब इसका इस्तेमाल कम होने लगा है लेकिन अधिकांश लोगों को इसकी जानकारी नहीं होती कि पुरुषों के लिए गर्भनिरोधक के तौर पर कंडोम एकमात्र विकल्प नहीं है. गर्भनिरोधक गोलियों के साइड इफेक्ट के कारण वैज्ञानिक पुरुष गर्भनिरोध के कई तरीकों पर काम कर रहे हैं. दूसरी ओर पुरुष गर्भनिरोध की इसलिए भी ज्यादा जरूरी है क्योंकि महिलाओं के उपर कई जिम्मेदारियां रहती हैं और गर्भनिरोध की गोलियां या इंजेक्शन से इन्हें साइड इफेक्ट का ज्यादा खतरा रहता है. तो आइए जानते हैं कि पुरुष गर्भनिरोध के कितने तरह के ऑप्शन है.

पुरुष गर्भनिरोध के उपाय

1.कंडोम-वेबएमडी की रिपोर्ट के मुताबिक निश्चित रूप से पूरी दुनिया में पुरुष कंडोम गर्भनिरोध का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला उपाय है. कंडोम से गर्भनिरोध की संभावना 98 प्रतिशत तक रहती है. दूसरी ओर इससे यौन संक्रमित रोग एसटीडी और फंगल इंफेक्शन का खतरा भी बहुत कम हो जाता है. हालांकि अगर कंडोम की गुणवत्ता कमजोर होगी तो गर्भनिरोध में भी मुश्किलें हो सकती हैं.

2. स्पर्मीसाइड-नाम से ही समझा जा सकता है कि गर्भनिरोध के ये उपाय स्पर्म को मार देते हैं. स्पर्मीसाइड का मतलब ही है कि स्पर्म को मार देना. स्पर्मीसाइड नॉन-ऑक्सीनोल-9 कंपाउड होता है जो स्पर्म का मार देता है जिससे प्रेग्नेंसी नहीं होती है. स्पर्मीसाइड कई रूपों में उपलब्ध हैं. यह फोम, जेली, टैबलेट, क्रीम, सपोजेटरी और डिसॉल्व फिल्म के रूप में बाजार में उपलब्ध है. भले ही इसका हमारे देश में कम इस्तेमाल हो लेकिन पश्चिमी देशों में इसका धड़ल्ले से इस्तेमाल होता है.

3. स्पर्मीसाइड कंडोम-यह रेगुलर कंडोम की तरह ही होता है लेकिन यह नॉन-ऑक्सीनोल -19 कंपाउड से कोटेड रहता है. यह एक तरह से लूब्रिकेंट का भी काम करता है. बर्थ कंट्रोल का यह बेहतर ऑप्शन है. हालांकि इससे यूटीआई इंफेक्शन का कुछ खतरा रहता है.

4. वेस्कोटोमी या पुरुष नसबंदी-वेस्कोटोमी पुरुष गर्भनिरोध का सबसे बेहतर तरीका है. इसमें सर्जन स्पर्म पास होने वाली नली को काट कर उसे बांध देता है. बेबी नहीं चाहने वाले पुरुषों के लिए यह सबसे बेहतर विकल्प है. यह बहुत सस्ता भी है और महिला बंध्याकरण से ज्यादा अच्छा काम करता है. वेस्कोटोमी के तीन महीने बाद सीमेन स्पर्म फ्री हो जाता है.

5. मेल बर्थ कंट्रोल पिल-मेल बर्थ कंट्रोल पिल हार्मोनल गोली है जो महिलाओं की तरह पुरुष भी ले सकते हैं. इसमें पुरुषों में स्पर्म का बनना बंद हो जाता है. हालांकि इस गोली को अभी दवा नियामक संस्थानों से मंजूरी नहीं मिली है.

6. टेस्टोरोन इंजेक्शन-यह ऐसा इंजेक्शन है जो पिट्यूटरी हार्मोन को रिलीज होने से रोकता है. पिट्यूटरी हार्मोन ही स्पर्म के प्रोडक्शन के लिए जिम्मेदार होता है. इसमें वीकली या मंथली इंजेक्शन लेना पड़ता है. इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं. इसमें इंजेक्शन वाली जगह पर दर्द, कील-मुंहासे, वेट गेन, असमान्य लिपिड और कुछ मनोवैज्ञानिक असर भी होता है. हालांकि वैज्ञानिक इन सबके असर को खत्म करने की कोशिश में लगे हुए हैं.

7.हार्मोल कंट्रासेप्टिव जेल-इस जेल का नाम NES/T है. इस जेल को रोजाना स्किन पर लगाना होता है जिससे स्पर्म बनना बंद हो जाता है. इसमें नेस्ट्रोॉन और टेस्टोस्टेरोन मिला रहता है. यह प्रोजेस्ट्रॉन हार्मोन की तरह काम करता है जिससे स्पर्म का प्रोडक्शन रूक जाता है. इस जेल का इंजेक्शन भी आता है जिसमें इसी तरह का कंपाउड होता है.

8. बर्थ कंट्रोल वैक्सीन-स्पर्म में इपीन नाम का एक प्रोटीन होता है. वैक्सीन इस प्रोटीन का खत्म कर देती है. हालांकि इस वैक्सीन में कुछ पुरुषों को बूस्टर डोज लेने की जरूरत होती है.
इसे भी पढ़ें-आपके दांत नहीं हैं हेल्दी? ये 5 हो सकते हैं कारण, समझ लेंगे तो चकाचक हो जाएंगे टूथ, सड़न की गंभीर समस्या भी होगी दूर

इसे भी पढ़ें-क्या नौकरी पेशा लोगों को डायबिटीज का रहता है ज्यादा खतरा? कब बढ़ सकता है बीपी, डॉक्टर से जानें सारी बात

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स