Ram Mandir : प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में वीआईपी एंट्री! अनजान कॉल पर न करें भरोसा, ये है ठगी का नया तरीका

Gypsy News

Gypsy News

रिपोर्ट- विशाल झा
गाज़ियाबाद. अयोध्या में राम मंदिर समारोह के भव्य आयोजन के लिए शासन प्रशासन सब दिन रात एक किए हुए हैं. तैयारी में कोई कमी न रह जाए इस पर सबका ध्यान है. राम भक्त भक्ति में डूबे हुए हैं. इस सबके बीच ठग भी मौके का फायदा उठाने तैयार हैं. साइबर क्राइम एक्सपर्ट चेता रहे हैं कि इन ठगों से बचकर रहें. बिना जांच पड़ताल के किसी भी अनजान शख्स की बातों में न आएं.

अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई बड़े मेहमान शामिल होंगे. इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए लोगों में काफी उत्साह और जिज्ञासा बनी हुई है. इसी का फायदा साइबर ठग उठा रहे हैं. साइबर एक्सपर्ट और पुलिस कह रही है-बच के रहना. साइबर एक्सपर्ट कामाक्षी शर्मा बता रही हैं इससे बचने के उपाय.

मौके पर नजर
कामाक्षी शर्मा का कहना है साइबर क्रिमिनल काफी चालाक होते हैं. यह मौके के अनुसार लोगों को ठगते हैं. दिवाली पर शॉपिंग की आड़ में. लोन के नाम पर. बेरोजगारों को नौकरी के नाम पर. और अब भगवान राम का इतना बड़ा आयोजन हो रहा है तो ठगों को एक और मौका मिल गया है. लोगों की धार्मिक भावना जुड़ी हुई है. इसी का फायदा ठग उठा रहे हैं.

ये भी पढ़ें- अयोध्या में महकेगा कन्नौज का इत्र, इसमें होगी मिट्टी से लेकर गुलाब तक की खुशबू, कीमत सुन रह जाएंगे दंग

दान और वीआईपी एंट्री के नाम पर ठगी
साइबर ठग लोगों से भगवान राम मंदिर के अलग-अलग पिलर, मूर्ति के लिए डोनेशन का पैसा मांगते हैं. ये ठग सोशल मीडिया पर तरह तरह के लिंक और विज्ञापन डाल रहे हैं. इन लिंक में क्यूआर कोड स्कैन करने के लिए कहा जाता है. इसके बाद दान मांगा जाता है. 5 हजार से लेकर 1 लाख रुपए तक मांगते हैं. इसके अलावा डमी वीडियो, डमी कॉल्स भी आ रहे हैं. ये ठग खुद को राम मंदिर तीर्थ ट्रस्ट का सदस्य बताते हैं. प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल होने के लिए वीआईपी पास भी लोगों के व्हाट्सएप और सोशल मीडिया पर पहुंचाये जा रहे हैं.

रहें सावधान
साइबर क्राइम एक्सपर्ट कामाक्षी शर्मा कहती हैं-लोग साइबर ठगी का शिकार इसलिए आसानी से हो जाते हैं. क्योंकि वह बिना कोई जांच पड़ताल या पूछताछ किए बिना झांसे में आ जाते हैं. इसलिए इन ठगों से बचना जरूरी है. कामाक्षी कहती हैं- अगर आप तक भी ऐसा कोई संदेश या मैसेज कभी आए तो हमेशा उसकी दोहरी जांच करनी चाहिए. उसके बाद ही किसी प्रकार का कोई एक्शन लेना चाहिए.

Tags: Ghaziabad News Today, Local18, Ram Mandir Ayodhya Darshan

Source link

और भी

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स